भारतीय दर्शन प्रणाली -4 - Gyan Darpan : Learning Portal

Post Top Ad

Sunday, 17 February 2019

भारतीय दर्शन प्रणाली -4


Indian philosophy system

1. योग से संबंधित निम्न कथनों पर ध्यान दें।
I. योग सांख्य मत के पच्चीस सिद्धांतों के साथ-साथ ईश्वर या भगवान को 26वें सिद्धांत के रूप में स्वीकार करता है। इसलिए यह मत अधिक आस्तिकतावादी है।
II. योग पुरुष को प्रकृति से अलग महसूस करने संबंधी आध्यात्मिक उपाय बताता है।
उपरोक्त में कौन सा कथन सही हैं?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: A
2. निम्नलिखित में से कौन सा कथन शुद्धाद्वैत से संबंधित हैं?
I. शुद्धाद्वैत "विशुद्ध रूप से अद्वैत” वल्लभाचार्य (1479-1531 ई.) द्वारा प्रतिपादित दर्शन मत है जो वल्लभ सम्प्रदाय ("वल्लभ की परंपरा") या पुष्टिमार्ग ("अनुग्रह के पथ") के संस्थापक एवं गुरू थे| यह मत एक हिन्दू वैष्णव परंपरा है जो कृष्ण भक्ति पर आधारित है|
II. वल्लभाचार्य का मानना है कि भगवान (ब्रह्म) शुद्ध और अद्वैतवादी है, लेकिन शंकराचार्य के विपरीत उनका दृढ़ विश्वास है कि आत्मा और प्रकृति (यूनिवर्स) भ्रम नहीं बल्कि असलियत में है|
उपरोक्त में से कौन सा कथन सही हैं?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: C
3. निम्नलिखित कथनों में से कौन अचिंत्य भेद अभेद से संबंधित है?
I. ऐसा माना जाता है कि कि इस दर्शन के संस्थापक चैतन्य महाप्रभु (1486 – 1534 C.E) थे और यह गौड़ीया परंपरा (बंगाल में) अन्य वैष्णव सम्प्रदायओं की तुलना में अलग थी|
II. इसे सबसे बेहतरीन तरीके से माधवाचार्य के विशुद्ध द्वैत मत और रामानुजाचार्य के विशिष्टाद्वैत मत के समन्वय के रूप में समझा जा सकता है जबकि यह आदि शंकराचार्य के अद्वैतवाद को पूरी तरह से अस्वीकार करता है|
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: C
4. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा भारतीय दर्शन के बारे में सही है?
A. जीव (एक जीवित) वह है जिसमें राज्य में किसी ना किसी रूप में पौरष की प्रकृति से बंधा हुआ है।
B. पौरष को आत्मा भी कहा जाता है, अपरिवर्तनीय अनन्त और अपने स्वभाव से सचेत है।
C. A & B  दोनों
D. इनमे से कोई भी नहीं
Ans: C
5. निम्न में से कौन सा बुनियादी तत्व या सिद्धांतों सांख्य प्रणाली से संबंधित है?
A. प्रकृति या मौलिक बात (बात, रचनात्मक एजेंसी, ऊर्जा); और पौरष या व्यक्ति के प्रति जागरूक किया जाता है (स्वयं या आत्मा या मन)
B. प्रकृति या मौलिक बात (बात है, रचनात्मक एजेंसी, ऊर्जा); और योग (स्वयं या आत्मा या मन)
C. A & B दोनों
D. इनमे से कोई भी नहीं
Ans: A
6. न्यायसूत्र से संबंधित निम्नलिखित खतनों पर ध्यान दें?
I. यह तर्क पर आधारित वह विचार कार्यप्रणाली है जिसे बाद में अधिकांश भारतीय स्कूलों द्वारा अपनाया गया है।
II. इसके अनुयायियों का मानना है कि दुख से निवारण का एकमात्र मार्ग वैध ज्ञान प्राप्त करना (चार सूत्रों जो हैं, धारणा, अनुमान, तुलना और प्रमाण) (चित्र) है।
उपरोक्त में कौन सही हैं?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: C
7. वैशेषिक से संबंधित निम्न कथनों पर ध्यान दें|
I. विचार वैशेषिक स्कूल की स्थापना 6 वीं शताब्दी ई.पू. में कपिल मुनि द्वारा की गयी थी।
II. स्कूल के दर्शन का आधार यह है कि रासायनिक ब्रह्मांड में सभी वस्तुओं परमाणुओं की एक निश्चित संख्या कम करने योग्य हैं, और ब्रह्म मौलिक शक्ति ही इन परमाणुओं में चेतना का कारण बनती है।
उपरोक्त में कौन सा कथन सही हैं?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: D
8. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा पुर्वा मीमांसा से संबंधित हैं?
I. यह स्कूल में तब्दील हो गया था क्योंकि विचारों से यह आध्यात्मिक सिद्धांतों के निकट था।
II. मीमांसा अन्य स्कूलों की तार्किक और दार्शनिक शिक्षाओं स्वीकार करने पर जोर देते हैं।
उपरोक्त में कौन सा कथन सही है?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: B
9. आदि शंकर से संबंधित हैं निम्न कथनों पर ध्यान दें।
I. प्राचीन भारतीय ग्रंथों में आदि शंकर को उनकी व्यवस्थित समीक्षा और टिप्पणियों के लिए जाना जाता है।
II. आदि शंकर ने चार मठों (मठ) (मठों) के तहत हिंदू भिक्षुओं की स्थापना की, जिनमें पश्चिम में द्वारका मुख्यालय के साथ, पूर्व में जगन्नाथ पुरी, दक्षिण में श्रृंगेरी, और उत्तर में बद्रीकृष्ण हैं।
उपरोक्त मे कौन सा सही हैं?
A. केवल I
B. केवल II
C. I एवं II दोनों
D. ना ही I और ना ही II
Ans: C
10. निम्न में से कौन-सा / विशिष्टाद्वैत का प्रमुख सिद्धांत हैं?
A. तत्व
B. हीता
C. पुरुषार्थ
D. उपरोक्त सभी
Ans: D

Post Top Ad