One Liner Set - 1583 - Gyan Darpan : Learning Portal
Get GK Updates on WhatsApp
fill-email

Post Top Ad

Wednesday, 23 December 2020

One Liner Set - 1583

वही मनुष्य है जो मनुष्य के लिए मरे-यह कथन किस कवि का है?

बालमुकुन्द गुप्त का


वंदना के इन स्वरों में एक स्वर मेरा मिला लो यह काव्य पंक्ति किस कवि द्वारा रचित है?

सोहनलाल द्विवेदी द्वारा


मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना-यह पंक्ति किसकी रचना है?

मोहम्मद इकबाल की


गिरा अनयन नयन बिनु बानी किस कवि की उक्ति है?

तुलसीदास की


अबलौ नशानी अब न नसैहो पद तुलसीदास की किस कृति में मिलती है?

विनय पत्रिका में


आप यहाँ क्लिक कर हमारे मोबाइल ऐप्स भी इनस्टॉल जरुर करें, अच्छे लगे तो शेयर भी करें  

No comments:

Post a comment

Post Top Ad